Monday, October 3, 2022
Home बिज़नेस सीआईएल के पास गैर-विद्युत क्षेत्र को आपूर्ति बढ़ाने के लिए पर्याप्त बफर स्टॉक

सीआईएल के पास गैर-विद्युत क्षेत्र को आपूर्ति बढ़ाने के लिए पर्याप्त बफर स्टॉक

नई दिल्ली: कोल इंडिया लिमिटेड (सीआईएल) वर्तमान में गैर-विद्युत क्षेत्र (एनपीएस) को प्रति दिन लगभग 3.4 लाख टन कोयले की आपूर्ति कर रहा है, जो इस काल खंड में कंपनी की औसत आपूर्ति है। 37 मिलियन टन (एमटी) से अधिक कोयले खदान निकास के आधार पर सीआईएल का इस क्षेत्र में आपूर्ति को और बढ़ाने का लक्ष्य है। अप्रैल-जनवरी वित्त वर्ष 22 के दौरान एनपीएस को सीआईएल का प्रेषण 101.7 मिलियन टन (एमटी) रहा, जो महामारी मुक्त वित्त वर्ष 20 की इसी अवधि में 94 एमटी की तुलना में 8.2 प्रतिशत अधिक था। यहां तक कि वित्त वर्ष 2019 की तुलनीय अवधि के लिए जब सीआईएल ने अपनी स्थापना के बाद से अब तक का सबसे अधिक कुल कोयला प्रेषण दर्ज किया, एनपीएस क्षेत्र को आपूर्ति में 91.5 मीट्रिक टन की तुलना में 11 प्रतिशत की वृद्धि हुई। इस अवधि के दौरान बिजली क्षेत्र को आपूर्ति की तुलना में एनपीएस ग्राहकों को आपूर्ति में वृद्धि दर अधिक थी। अप्रैल 20-जनवरी 21 में एनपीएस हिस्से में 105 मीट्रिक टन प्रेषण वित्त वर्ष 22 की समान अवधि की तुलना में 3 मीट्रिक टन से थोड़ा अधिक था। कोविड से प्रभावित वर्ष के दौरान प्रेषण में वृद्धि के कई कारण थे।

कोविड की वजह से वित्त वर्ष 2021 के अधिकांश भाग के लिए कोयले की खपत की मांग में व्यवधान देखा गया, सीआईएल ने एनपीएस हिस्से में आपूर्ति को बढ़ाया। इसके अलावा एनपीएस ग्राहकों ने भी कोयले की अधिक मात्रा को उठाने का विकल्प चुना क्योंकि सीआईएल की ई-नीलामी बिक्री वित्त वर्ष 2021 की पहली छमाही के लिए अधिसूचित मूल्य पर सीमित थी। एनपीएस किसी भी वित्तीय वर्ष में घरेलू कोयले के साथ सम्मिश्रण के लिए लगभग 170 मीट्रिक टन कोयले का आयात करता है। लेकिन वित्त वर्ष 22 में असामान्य रूप से उच्च अंतर्राष्ट्रीय कोयले की कीमतें अपेक्षित मात्रा में आयात करने के लिए बाधा के रूप में साबित हुईं, जिससे उसके अंत में कोयले की कमी बढ़ गई। सीआईएल के पास गैर-विद्युत क्षेत्र को आपूर्ति बढ़ाने के लिए पर्याप्त बफर स्टॉक है।

वित्त वर्ष 22 में बिजली उत्पादन में अभूतपूर्व वृद्धि देखी गई है, विकास दर एक दशक में सबसे अधिक है, जिससे राष्ट्रीय प्राथमिकता पर बिजली क्षेत्र की कोयले की मांग को पूरा करने की आवश्यकता है। मजबूत आर्थिक सुधार पर सवार होकर चालू वित्त वर्ष के जनवरी 22 तक कुल कोयला आधारित बिजली उत्पादन में साल-दर-साल की तुलना में 11.2 प्रतिशत की वृद्धि हुई। वहीं, इस अवधि के दौरान घरेलू कोयला आधारित उत्पादन 17 प्रतिशत बढ़ा था। बिजली क्षेत्र को कोयले की आपूर्ति का बड़ा हिस्सा सीआईएल द्वारा प्राथमिकता के आधार पर पूरा किया गया।

अप्रैल-जनवरी 2021-22 के दौरान 14 आयातित कोयला आधारित बिजली संयंत्रों से बिजली उत्पादन में 48 प्रतिशत की कमी आई। परिणामस्वरूप उत्पादन अंतर को पूरा करने के लिए घरेलू कोयला आधारित जनरेटरों को स्वदेशी कोयले की आपूर्ति में वृद्धि की आवश्यकता थी। सीआईएल ने इस अतिरिक्त मांग के लगभग 20 एमटी की आपूर्ति की। दूसरे शब्दों में कहें तो आयात को उस सीमा तक कम कर दिया गया था। बिजली क्षेत्र को कोयले की प्राथमिकता देने और अन्य चुनौतियों का सामना करने के बावजूद सीआईएल ने वित्त वर्ष 22 के जनवरी तक 101.7 एमटी से एनपीएस ग्राहकों को पिछले वर्ष की समान अवधि का 97 प्रतिशत आपूर्ति की।

RELATED ARTICLES

अब साल में सिर्फ 15 गैस सिलेंडर ही ले सकेंगे ग्राहक, महीने का कोटा भी तय

नई दिल्ली: अब घरेलू रसोई एलपीजी गैस सिलेंडर की संख्या ग्राहकों के लिए फिक्स हो गई है। नए नियम के मुताबिक, अब ग्राहक एक...

Reliance: रिलायंस रिटेल ने खोला देश का पहला सेंट्रो स्टोर

नई दिल्ली: रिलायंस रिटेल (Reliance Retail) ने सेंट्रो नाम से एक नए प्रकार के फैशन और लाइफस्टाइल स्टोर (Fashion & Lifestyle Stores) की शुरुआत...

LPG cylinder price: कम हो सकते हैं एलपीजी सिलेंडर के दाम, सरकार ने दिए संकेत

नई दिल्ली: कुछ ही दिनों में नया महीना शरू हो जाएगा। नियमों के अनुसार हर महीने की पहली तारीख को गैस सिलेंडर के नए...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

सबसे लोकप्रिय

बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और केंद्रीय गृह मंत्री अनुराग ठाकुर पहुंचे ऊना, आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर की बैठक

हिमाचल प्रदेश: भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा और केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर रविवार को ऊना पहुंचे। नड्डा ने लालसिंगी में भाजपा कार्यालय...

राज्यपाल ने टी.बी. एसोसिएशन ऑफ उत्तराखण्ड के टी.बी. के प्रति जनजागरूकता अभियान ‘‘टी.बी. सील’’ का किया अनावरण

देहरादून:- राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (से नि) ने राजभवन में टी.बी. एसोसिएशन ऑफ उत्तराखण्ड के टी.बी. के प्रति जनजागरूकता अभियान ‘‘टी.बी. सील’’ का...

राज्य स्तरीय समान नागरिक संहिता विशेषज्ञ समिति के सदस्यों ने गोपेश्वर मुख्यालय और जनपद रुद्रप्रयाग के अगस्त्यमुनि में लोगों से मिलकर सुने उनके सुझाव

चमोली: जनपद के मुख्यालय गोपेश्वर में जनसामान्य के साथ बैठक का आयोजन महाविद्यालय परिसर में किया गया। इस बैठक में महिलाओं व युवाओं ने...

वरुण धवन और कृति सैनन की भेडिय़ा का टीजर जारी

वरुण धवन और कृति सैनन हॉरर फिल्म भेडिय़ा में जल्द नजर आएंगे। फिल्म 25 नवंबर को बड़े पर्दे पर आएगी। इसका निर्देशन अमर कौशिक...

अवैध स्मैक सहित पकड़ा गया ड्रग सप्लायर मिक्की वारसी

नैनीताल: जनपद नैनीताल पुलिस द्वारा वर्तमान में त्यौहारी सीजन के दौरान बढते अपराधो की रोकथाम व अवैध स्मैकतस्करी के विरूद्ध कोतवाली हल्द्वानी पुलिस व...

तीसरा चुनाव आयुक्त है ही नहीं!

चुनाव आयोग के सामने बहुत बड़ा मामला लंबित है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद उसे शिव सेना के बारे में फैसला करना है।...

समान नागरिक संहिता विषेशज्ञ समिति के सदस्यों द्वारा नागरिकों का पक्ष सुनने के लिए क्षेत्र में निर्धारित किया गया भ्रमण का कार्यक्रम

चमोली: राज्य स्तरीय समान नागरिक संहिता विषेशज्ञ समिति के सदस्यों द्वारा नागरिकों का पक्ष सुनने के लिए क्षेत्र में भ्रमण का कार्यक्रम निर्धारित किया...

PWD चीफ एयाज अहमद ने लगाई अधिकारियों की क्लास, तय समय में पूरा हो उत्तराखंड की सड़कों को गड्ढामुक्त करने का अभियान

देहरादून: उत्तराखंड में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के निर्देश पर शासन लगातार सड़कों को गड्ढा मुक्त करने के लिए दिशा निर्देश जारी कर रहा...

उत्तराखंड में बेसहारा, घायल गायों व गोवंशों के लिए देवदूत हैं शादाब अली

देहरादून: सूचना विभाग में कार्यरत सुरेश भट्ट जी द्वारा फोन पर सूचना मिलते ही भारतीय गौरक्षा वाहिनी के अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व...

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आयोजित की गयी प्रधानमंत्री पन्द्रह सूत्रीय कार्यक्रम क्रियान्वयन के लिए राज्य स्तरीय समिति की बैठक

देहरादून: मुख्य सचिव डॉ. एस.एस. संधु की अध्यक्षता में सचिवालय में प्रधानमंत्री जनविकास कार्यक्रम योजना के प्रस्तावों पर अनुमोदन हेतु प्रधानमंत्री पन्द्रह सूत्रीय कार्यक्रम...