Saturday, October 1, 2022
Home अंतर्राष्ट्रीय इम्यूनोथेरेपी की नई कैंसर दवा 100 फीसदी कारगर, रेक्टल कैंसर के सभी मरीज पूरी तरह हुए ठीक

इम्यूनोथेरेपी की नई कैंसर दवा 100 फीसदी कारगर, रेक्टल कैंसर के सभी मरीज पूरी तरह हुए ठीक

वाशिंगटन:- अमेरिका में एक अध्ययन के दौरान इम्यूनोथेरेपी की नई दवा से रेक्टल कैंसर के सभी 18 मरीज पूरी तरह ठीक हो गए। छह महीने के कोर्स के बाद किसी भी मरीज की जांच में ट्यूमर सामने नहीं आया। कुछ मरीजों को दो साल का समय हो चुका है और अब तक कैंसर का कोई लक्षण नहीं उभरा है। न्यूयार्क स्थित एमएसके कैंसर सेंटर के डा. लुइस ए डियाज जूनियर के नेतृत्व में हुए इस अध्ययन के नतीजे न्यू इंग्लैंड जर्नल आफ मेडिसिन में प्रकाशित किए गए हैं।

विज्ञानियों का कहना है कि भले ही 18 मरीजों पर किया गया यह अध्ययन छोटा है, लेकिन इसके नतीजे बहुत उत्साहजनक हैं। भविष्य में इससे विभिन्न प्रकार के कैंसर के सटीक इलाज की राह निकल सकती है। अध्ययन के दौरान सभी मरीजों को चेकप्वाइंट इनहिबिटर कही जाने वाली दवा डोस्टारलिमैब दी गई। छह माह तक हर तीसरे हफ्ते एक खुराक दी गई। डोज पूरी होने के बाद जब जांच की गई तो किसी भी मरीज में कैंसर का लक्षण नहीं बचा था। अध्ययन से पहले यह माना जा रहा था कि शायद कुछ मरीजों को बाद में कीमोथेरेपी या अन्य दवा की जरूरत पड़े, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। अध्ययन में शामिल किए गए सभी मरीजों का कैंसर शुरुआती स्टेज में था, यानी उसका शरीर के दूसरे अंगों तक फैलना शुरू नहीं हुआ था।

जानिए कैसे करती है दवा काम

कैंसर कोशिकाएं स्वयं को शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली (इम्यून सिस्टम) से छिपाने में सक्षम होती हैं। उनकी इसी खूबी के कारण शरीर में ट्यूमर बनता है। यह दवा कैंसर की कोशिकाओं से उस पर्दे को हटा देती हैं और हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली उन्हें आसानी से देख पाती है। इसके बाद हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली ही उन कैंसर कोशिकाओं को नष्ट कर देती है। इसीलिए इस प्रक्रिया को इम्यूनोथेरेपी कहा जाता है।

2017 में फार्मा कंपनी मर्क ने डा. लुइस डियाज के नेतृत्व में ही अपनी चेकप्वाइंट इनहिबिटर दवा पेमब्रोलिजुमैब का परीक्षण किया था। उस दौरान ऐसे मरीजों को शामिल किया गया था, जिनमें मेटास्टेटिक कैंसर था यानी कैंसर शरीर के कई अंगों में फैल चुका था। दो साल तक दवा लेने से करीब आधे मरीजों में ट्यूमर छोटा हो गया या उसका प्रसार रुक गया था। 10 प्रतिशत मरीजों में कैंसर खत्म हो गया था। इसी नतीजे को देखकर डा. डियाज ने सोचा था कि यदि एक ही अंग में फैले कैंसर पर दवा का प्रयोग करें, तो क्या नतीजा मिलेगा? इसी विचार के साथ उन्होंने फार्मा कंपनी ग्लैक्सोस्मिथक्लाइन के साथ मिलकर अध्ययन को पूरा किया।

क्लिनिकल ट्रायल के नतीजों से चिकित्सा जगत हैरान

रिपोर्ट के मुताबिक, क्लिनिकल ट्रायल में शामिल मरीज इससे पहले कैंसर से छुटकारा पाने के लिए कीमोथेरेपी, रेडिएशन और सर्जरी जैसे तकलीफदेह इलाजों से गुजर रहे थे। 18 मरीज यह सोचकर ट्रायल में शामिल हुए थे कि ये उनके इलाज का अगला चरण है। हालांकि उन्हें यह जानकर हैरानी हुई कि अब उन्हें आगे इलाज की कोई जरूरत नहीं है। क्लिनिकल ट्रायल के नतीजों ने चिकित्सा जगत को आश्चर्य में डाल दिया है।

RELATED ARTICLES

अस्पतालों में रजिस्ट्रेशन एवं टोकन के लिए विकसित की जाए प्रभावी व्यवस्था, स्वास्थ्य संबंधी कार्डों की सही मॉनिटरिंग के लिए भी तैयार किया जाए...

देहरादून: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सचिवालय में चिकित्सा शिक्षा एवं चिकित्सा स्वास्थ्य विभाग की बैठक लेते हुए अधिकारियों को निर्देश दिये कि अस्पतालों...

पहाड़ के मेडिकल कॉलेज को सरकार का बड़ा तोहफा, मेडिकल फैकल्टी को मिलेगा 50 फीसदी अतिरिक्त भत्ता

देहरादून: उत्तराखंड के पर्वतीय जनपदों में स्थित राजकीय मेडिकल कॉलेज अब फैकल्टी की समस्या से नहीं जूझेंगे। चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ0 धन सिंह रावत...

स्वास्थ्य संबंधी सहायता चाहिए तो डायल करें हेल्पलाइन नम्बर 104, विभिन्न मामलों को लेकर प्रतिदिन 5000 कॉल की जा रही दर्ज

देहरादून: सूबे में स्वास्थ्य सेवाओं को आम जनमानस तक पहुंचाने के उद्देश्य से स्वास्थ्य विभाग द्वारा 104 एकीकृत हेल्पलाइन सेवा संचालित की जा रही...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

सबसे लोकप्रिय

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के कामकाज पर जनता की मुहर, हरिद्वार पंचायत चुनाव में शानदार प्रदर्शन से विपक्ष के साथ ही भीतरघातियों के मुँह...

देहरादून: हरिद्वार जिला पंचायत के चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने इस बार अभूतपूर्व जीत दर्ज की है। जितनी सीटें भाजपा इस बार हरिद्वार...

ऋषिकेश के ज्यादातर जंगल के रिजॉर्ट और कैंप के सीसीटीवी कैमरे बंद, नाम के लिए लगाए गए हैं सीसीटीवी कैमरे

ऋषिकेश: राजाजी टाइगर रिजर्व पार्क और वन क्षेत्र के आसपास बने जंगल रिजॉर्ट और कैंप में सीसीटीवी कैमरे केवल नाम के लिए लगाए गए...

मुख्यमंत्री धामी ने कहा विभागों एवं अधिकारियों को हैं स्पष्ट आदेश, किसी भी कार्य योजना को तय समय में पूरी गुणवत्ता के साथ किया...

देहरादून: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शुक्रवार को रानीपोखरी, देहरादून में अयोजित कार्यक्रम में प्रतिभाग करते हुए विकासखण्ड डोईवाला के अन्तर्गत भानियावाला ऋषिकेश मोटर...

बीएस-4 मानक की बसों की एंट्री बंद, एक अक्तूबर से दिल्ली तक नहीं जा पाएंगी उत्तराखंड रोडवेज की बसें

देहरादून: एक अक्तूबर से दिल्ली सरकार ने यदि बीएस-4 मानक की बसों की एंट्री बंद की तो उत्तराखंड रोडवेज की 230 से ज्यादा बसें...

यूट्यूबर बॉबी कटारिया ने दिल्ली की अदालत में किया सरेंडर

देहरादून: जनपद देहरादून में बीच सड़क में कुर्सी लगाकर शराब पीने का वीडियो डालने वाले यूट्यूबर बॉबी कटारिया ने दिल्ली की अदालत में आत्मसमर्पण...

अंकिता के परिजनों से मिले मुख्यमंत्री धामी एवं कैबिनेट मंत्री धन सिंह रावत

पौड़ी:- मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आज पौड़ी के श्रीकोट में अंकिता भंडारी के परिजनों से मुलाकात की और भरोसा दिलाया कि पूरी सरकार...

हस्तक्षेप संगठन: शहीदों को श्रद्धांजलि देने के लिए ‘साइकिल मार्च’

देहरादून: प्रवासी उत्तराखंडियों को एकजुट-एकमुट करने की कवायद नये सिरे से हो रही है। हस्तक्षेप संगठन ने यह पहल की है। संगठन दो अक्टूबर...

Zaheer/Sonakshi: जहीर इकबाल के साथ म्यूजिक वीडियो में नजर आएंगी सोनाक्षी सिन्हा

बॉलीवुड अभिनेत्री सोनाक्षी सिन्हा और जहीर इकबाल (Sonakshi Sinha and Zaheer Iqbal) के रिश्ते की बातें लंबे समय से चल रही हैं। सोशल मीडिया...

Reliance: रिलायंस रिटेल ने खोला देश का पहला सेंट्रो स्टोर

नई दिल्ली: रिलायंस रिटेल (Reliance Retail) ने सेंट्रो नाम से एक नए प्रकार के फैशन और लाइफस्टाइल स्टोर (Fashion & Lifestyle Stores) की शुरुआत...

अस्पतालों में रजिस्ट्रेशन एवं टोकन के लिए विकसित की जाए प्रभावी व्यवस्था, स्वास्थ्य संबंधी कार्डों की सही मॉनिटरिंग के लिए भी तैयार किया जाए...

देहरादून: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सचिवालय में चिकित्सा शिक्षा एवं चिकित्सा स्वास्थ्य विभाग की बैठक लेते हुए अधिकारियों को निर्देश दिये कि अस्पतालों...