Thursday, February 2, 2023
Home राष्ट्रीय महामारी से प्रभावित क्षेत्रों की मदद के लिए ‘सम्मिलित प्रयास’ की जरूरत : सीतारमण

महामारी से प्रभावित क्षेत्रों की मदद के लिए ‘सम्मिलित प्रयास’ की जरूरत : सीतारमण

नई दिल्ली: कोविड-19 के नए रूप के बढ़ते संक्रमण के बीच कृषि और सूक्ष्म एवं लघु उद्यमों के लिए आने वाले दिनों में नयी सहायता उपाय किए जाने का संकेत देते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि महामारी के प्रकोप से प्रभावित क्षेत्रों की मदद के लिए ‘सम्मिलित प्रयास’ जारी रखने की जरूरत है।

उन्होंने यह भी कहा कि वैश्विक स्तर पर चुनौतियों और कोरोना के नये रूप ओमिक्रॉन के फैलने से उत्पन्न चुनौतियों के बाद भी भारत में व्यावसायिक संभावनाओं का परिदृश्य अच्छा हो रहा है। वित्त मंत्री ने कहा कि खुदरा क्षेत्र में वृद्धि, समग्र आर्थिक संभावनाओं में सुधार तथा कर्ज लेने वालों की वित्तीय स्थिति मजबूत होने से कर्ज की मांग बढऩे की संभावना है।

श्रीमती सीतारमण सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के कारेाबार की समीक्षा कर रही थीं। इस बैठक में बैंकों के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशकों तथा प्रबंध निदेशकों के अलावा वित्त राज्य मंत्री डॉ भगवंत किशनराव कराड़ और वित्तीय सेवा विभाग के सचिव देवाशीष पांडा तथा अन्य अधिकारियों ने भाग लिया। सरकारी विज्ञप्ति के अनुसार, वित्त मंत्री ने आपातकालीन ऋण-सहायता गारंटी योजना (ईसीएलजीएस) की सफलता की सराहना की लेकिन कहा कि हमें अपनी उपलब्धियों को लेकर संतुष्ट होकर बैठने का समय नहीं है। हमारा सम्मिलित प्रयास होना चाहिए कि कोविड-19 के प्रकोप के लगातार बने रहने से प्रभावित क्षेत्रों की हम मदद करें।

बयान के मुताबिक वित्त मंत्री ने बैंकों को निर्देश दिया है कि वे कृषि क्षेत्र, किसानों, खुदरा क्षेत्र और सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उद्यमों की मदद जारी रखें। गौरतलब है कि सरकार ने कोविड-19 की दूसरी लहर से अर्थव्यवस्था को संभालने के लिए मई 2020 में 20 लाख करोड़ रुपये का वृहद सहायता पैकेज घोषित किया था। उसके तहत नकदी संकट में घिरी एमएसएमई क्षेत्र की इकाइयों के लिए बैंकों की ओर से अतिरिक्त कर्ज सहायता पर सरकारी गारंटी की ईसीएलजीएस योजना घोषित की गयी थी। उसके बाद से इस योजना को चार बार विभिन्न क्षेत्रों के लिए बढ़ाया जा चुका है, इसके अंतर्गत कुल 4.5 लाख करोड़ रुपये के कर्ज की सुविधा करने का लक्ष्य है।

बैठक में श्रीमती सीतारमण ने कोविड-19 के कारण आर्थिक गतिविधियों में उत्पन्न बाधाओं से निपटने के लिए सरकार और भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा किए गए निर्णयों के अनुपालन के लिए सरकारी क्षेत्र के बैंकों द्वारा उठाए गए कदमों की समीक्षा की गयी।

उन्होंने भविष्य में कोविड-19 के कारण और व्यवधन होने पर उससे निपटने के लिए बैंकों की तैयारी का भी जायजा लिया। बैंकों की ओर से वित्त मंत्री को बताया गया, भारत में अब कर्ज चुकाने की संस्कृति अच्छी हो रही है।
सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के कारोबार में सुधार हुआ है तथा उन्होंने सरकार की नीतियों को अच्छा समर्थन दिया है ताकि अर्थव्यवस्था को दबाव से उबारा जा सके।

सरकारी बैंकों ने 2020-21 में 31,820 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया था जो पिछले पांच वित्तीय वर्ष में सबसे ऊंचा है। चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही में इन बैंकों का सम्मिलित शुद्ध लाभ 31,145 करोड़ रुपये रहा जो पिछले वित्त वर्ष के लाभ के करीब करीब बराबर है। इन बैंकों की पूंजी की स्थिति पर्याप्त रूप से मजबूत है। सितंबर 2021 के अंत में इनकी पूंजी भारांकित जोखिम वाले कर्ज (सीआएआर)के 14.4 प्रतिशत के बराबर थी जबकि नियम के अनुसार सीआरएआर 11.5 प्रतिशत पर्याप्त है।

RELATED ARTICLES

राजधानी दिल्ली में बने मध्यप्रदेश सरकार के नए भवन का आज शाम सीएम शिवराज करेंगे उद्घाटन

मध्य प्रदेश: देश की राजधानी दिल्ली में बने मध्यप्रदेश सरकार के नए आशियाने का आज यानि की गुरुवार को शाम 6:30 बजे सीएम शिवराज...

जम्मू-कश्मीर के राजौरी में प्रधानमंत्री आवास योजना से 65 हजार लोग लाभान्वित

श्रीनगर: जम्मू एवं कश्मीर के राजौरी और पुंछ जिलों के लाखों लोग अभी भी गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन कर रहे हैं। कुछ...

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने की बड़ी घोषणा, पहचान पत्र माना जाएगा पेन कार्ड

नई दिल्ली: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण वित्त वर्ष 2023-24 का आम बजट संसद में पेश कर रही हैं। इस दौरान वित्त मंत्री ने बजट...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

सबसे लोकप्रिय

भारतीय मूल की निक्की हेली लड़ेंगी अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव, 15 फरवरी तक पेश कर सकती हैं दावेदारी

न्यूयॉर्क: भारतीय-अमेरिकी रिपब्लिकन नेता निक्की हेली राष्ट्रपति पद का चुनाव लडऩे की योजना बना रही हैं। वह 15 फरवरी तक 2024 के राष्ट्रपति अभियान...

स्कूली बच्चों का तनाव कम करने के उद्देश्य से माह में एक दिन होगा बैग फ्री डे – डॉ. धन सिंह रावत

देहरादून: प्रदेश के शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने कहा कि स्कूलों में बच्चों के भारी-भरकम बस्तों का बोझ कम करने के लिए...

राजधानी दिल्ली में बने मध्यप्रदेश सरकार के नए भवन का आज शाम सीएम शिवराज करेंगे उद्घाटन

मध्य प्रदेश: देश की राजधानी दिल्ली में बने मध्यप्रदेश सरकार के नए आशियाने का आज यानि की गुरुवार को शाम 6:30 बजे सीएम शिवराज...

पटवारी भर्ती परीक्षा- उत्तराखंड लोक सेवा आयोग की पटवारी-लेखपाल भर्ती परीक्षा में इस बार पुलिस के साथ एलआईयू की भी होगी तैनाती

देहरादून: प्रदेश में पेपर लीक होने के बाद उत्तराखंड लोक सेवा आयोग की पटवारी-लेखपाल भर्ती में इस बार पुलिस के साथ एलआईयू भी तैनात...

भारत के स्वर्णिम भविष्य की नींव है बजट : डॉ0 धन सिंह रावत

देहरादून: केन्द्र सरकार के बजट को कैबिनेट मंत्री डॉ0 धन सिंह रावत ने ऐतिहासिक बताया। उन्होंने कहा कि केन्द्रीय बजट को भारत के स्वर्णिम...

वृद्धावस्था पेंशन के रुपये नहीं देने पर बेटे ने की अपनी मां की कुल्हाड़ी से काटकर हत्या

झूलाघाट: पड़ोसी देश नेपाल के कैलाली जिले के लम्कीचुहा नगरपालिका में वृद्धावस्था पेंशन के रुपये नहीं देने पर एक व्यक्ति ने अपनी मां की...

जम्मू-कश्मीर के राजौरी में प्रधानमंत्री आवास योजना से 65 हजार लोग लाभान्वित

श्रीनगर: जम्मू एवं कश्मीर के राजौरी और पुंछ जिलों के लाखों लोग अभी भी गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन कर रहे हैं। कुछ...

उत्तराखंड लोक सेवा आयोग ने नई भर्ती के लिए मांगे आवेदन, अंतिम तारीख 20 फरवरी 2023

लेखपाल भर्ती परीक्षा के लिए मुफ्त यात्रा का आदेश हुआ जारी हरिद्वार: उत्तराखंड लोक सेवा आयोग ने सहायक नियोजक एवं सहायक वास्तुविद नियोजक परीक्षा 2023...

मोबाइल फोन के ज्यादा इस्तेमाल से दिमाग पर पड़ सकते हैं ये पाँच नकारात्मक प्रभाव

आज के समय में मोबाइल फोन जीवन की हर समस्या का समाधान बन गया है। आप चाहें अपने मन को बहला रहे हों या...

निमृत कौर अहलूवालिया बनी बिग बॉस 16 के फिनाले में पहुंचने वाली पहली कंटेस्टेंट

टेलीविजन अभिनेत्री निमृत कौर अहलूवालिया विवादित रिएलिटी शो बिग बॉस 16 के फिनाले में पहुंचने वाली पहली प्रतियोगी हैं। वह नवीनतम एपिसोड में एक...