Wednesday, September 28, 2022
Home उत्तराखंड उत्तराखंड के राजनैतिक पार्टियों के पुरुषार्थ का परिणाम, नही थमा पलायन

उत्तराखंड के राजनैतिक पार्टियों के पुरुषार्थ का परिणाम, नही थमा पलायन

इस बार के उत्तराखंड चुनाव में राजनैतिक दलों में जोश बढ़ता नजर आ रहा है। सभी के अपने अपने दावे और तथ्य है। दावों के अनुसार अबतक की सरकारों ने विकास की लकीर तो खींची है। लेकिन राज्य में पलायन की तकदीर को बदल नही सकी। आज भी पलायन की समस्या एक ऐसी समस्या है जो राज्य में मूल आवश्यकताओं में कमी का सुचांक है। उत्तराखंड में एक कहावत कही जाती है कि पहाड़ का पानी और पहाड़ की जवानी पहाड़ के काम नहीं आती। राज्य में पलायन इस कहावत को फलहित करता दिखाई देता है। उत्तराखंड में अधिकांश पढ़ा-लिखा वर्ग गाँव से बाहर रोजगार के अवसर पाते ही पलायन कर जाता है।

नहीं थमा पलायन

कभी साल-छह महीने में गाँव पहुच पाते हैं। ऐसे करके अगर देखा जाए तो उत्तराखंड के गावों से लगभग आधी आबादी राज्य सरकारों के दावों की पोल खोलकर बेहतर भविष्य की तलाश में पलायन कर चुकी है। गत वर्ष कोरोनाकाल में तमाम प्रवासी लौटकर अपने गांव पहुंचे। कहा जा रहा था कि अब इनमें से अधिकतर लोग वापस नहीं जाएंगे, लेकिन ऐसा भी नहीं हुआ।पलायन की मुख्य वजहों में रोजगार, शिक्षा, चिकित्सा, कृषि की समस्या, जंगली जानवरों से खेती का नुकसान, सड़क, पानी जैसी मूलभूत सुविधाओं का अभाव या एक-दूसरे की देखा-देखी पलायन देखा गया है। देखा जाए तो यह रातों रात नही हो रहा। आज की यह स्थिति पैदा होने में कई वर्षो का समय लगा है। सवाल यह है, कि आखिर कितनी सरकारें सत्ता में आई, समितियां बनी, रिपोर्ट्स बनी, चर्चाएं हुई, चर्चाओं पर कार्य भी हुआ, बस नही रोका जा सका तो सिर्फ पलायन।

उत्तराखंड

अगर सुरक्षा की दृष्टि से भी देखा जाए, तो विदेश सीमाओं से सटे उत्तराखंड के पर्वतीय क्षेत्रों से भारी पलायन ठीक नही। पर्वतीय लोगों की पहचान को संरक्षित करना, राज्य बनाने का मूल मकसद था। अब खतरा यह है, कि पहाड़ों में पलायन के कारण, वहां आबादी घटने का क्रम इसी तरह जारी रहा तो कुछ दशक बाद उत्तराखंड जैसे पर्वतीय राज्य में मूल लोगों के अल्पमत में आने से इस हिमालयी राज्य के गठन की पूरी अवधारणा ही ध्वस्त हो जाएगी। वही सालों में इस राज्य की सरकारों ने पलायन रोक पाने के लिए कैसे काम किया, पिछली पलायन आयोग की रिपोर्ट उसी नाकामी का दस्तावेज है। ऐसे में चुनावी दावों के क्या मायने रह जाते है।

RELATED ARTICLES

उत्तराखंड को मिला बेस्ट टूरिज्म डेस्टिनेशन अवार्ड, पर्यटन के सर्वांगीण विकास के लिए भी प्रदेश को प्रथम पुरस्कार

नई दिल्ली:- विश्व पर्यटन दिवस के अवसर पर उत्तराखंड राज्य को पर्यटन मंत्रालय भारत सरकार द्वारा बेस्ट एडवेंचर टूरिज्म डेस्टिनेशन और पर्यटन के सर्वांगीण...

अंकिता हत्याकांड को लेकर पटवारी वैभव प्रताप को किया गया सस्पेंड

देहरादून:- अंकिता हत्याकांड को लेकर पटवारी वैभव प्रताप को सस्पेंड कर दिया गया है। डीएम पौड़ी ने इसके आदेश जारी कर दिए हैं। बताया...

उत्तराखंड में पर्यटन ने पकड़ी रफ्तार, चारधाम यात्रा में उमड़ा श्रद्धालुओं का सैलाब

देहरादून: कोविड महामारी की चुनौतियों को पार कर उत्तराखंड में पर्यटन ने रफ्तार पकड़ी है। कोरोना के कारण दो साल से प्रभावित चारधाम यात्रा...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

सबसे लोकप्रिय

उत्तराखंड को मिला बेस्ट टूरिज्म डेस्टिनेशन अवार्ड, पर्यटन के सर्वांगीण विकास के लिए भी प्रदेश को प्रथम पुरस्कार

नई दिल्ली:- विश्व पर्यटन दिवस के अवसर पर उत्तराखंड राज्य को पर्यटन मंत्रालय भारत सरकार द्वारा बेस्ट एडवेंचर टूरिज्म डेस्टिनेशन और पर्यटन के सर्वांगीण...

अंकिता हत्याकांड को लेकर पटवारी वैभव प्रताप को किया गया सस्पेंड

देहरादून:- अंकिता हत्याकांड को लेकर पटवारी वैभव प्रताप को सस्पेंड कर दिया गया है। डीएम पौड़ी ने इसके आदेश जारी कर दिए हैं। बताया...

उत्तराखंड में पर्यटन ने पकड़ी रफ्तार, चारधाम यात्रा में उमड़ा श्रद्धालुओं का सैलाब

देहरादून: कोविड महामारी की चुनौतियों को पार कर उत्तराखंड में पर्यटन ने रफ्तार पकड़ी है। कोरोना के कारण दो साल से प्रभावित चारधाम यात्रा...

मुख्य सचिव ने हेमकुंड साहिब और बद्रीनाथ धाम में मास्टर प्लान के तहत संचालित पुनर्निर्माण कार्यो का किया निरीक्षण

चमोली: मुख्य सचिव डॉ. एस.एस. संधू ने मंगलवार को हेमकुंड साहिब और बद्रीनाथ धाम में यात्रा व्यवस्थाओं का जायजा लेने के साथ ही मास्टर...

CM धामी ने मुख्य सेवक सदन में सेवा पखवाड़ा 2022 के तहत ‘स्वच्छता गौरव सम्मान’ कार्यक्रम में स्वच्छता दूतों को किया सम्मानित

देहरादून: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मुख्यमंत्री आवास स्थित, मुख्य सेवक सदन में सेवा पखवाड़ा 2022 के तहत ‘स्वच्छता गौरव सम्मान’ कार्यक्रम में स्वच्छता...

उत्तराखंड लोक सेवा आयोग ने प्रदेश में समूह-ग की 12 और भर्तियों का कैलेंडर किया जारी

देहरादून:  उत्तराखंड लोक सेवा आयोग ने प्रदेश में समूह-ग की 12 और भर्तियों का कैलेंडर जारी कर दिया है। आयोग ने इन भर्तियों के...

अंकिता हत्याकांड में प्रयुक्त पलसर बाइक हुई बरामद

पौड़ी गढ़वाल: अंकिता हत्याकांड में गठित की गई 80 टीम ने घटना से संबंधित साक्ष्य जुटाने शुरू कर दिए हैं जिस के क्रम में...

अंकिता हत्याकांड: जांच पूरी होने तक लक्ष्मण झूला में कैंप करेगी एसआईटी

देहरादून: जनपद पौड़ी गढ़वाल के राजस्व पुलिस क्षेत्र पट्टी उदयपुर पल्ला नम्बर 2, तहसील यमकेश्वर क्षेत्रान्तर्गत रिजॉर्ट में अंकिता भण्डारी की हत्या से सम्बन्धित...

स्वास्थ्य संबंधी सहायता चाहिए तो डायल करें हेल्पलाइन नम्बर 104, विभिन्न मामलों को लेकर प्रतिदिन 5000 कॉल की जा रही दर्ज

देहरादून: सूबे में स्वास्थ्य सेवाओं को आम जनमानस तक पहुंचाने के उद्देश्य से स्वास्थ्य विभाग द्वारा 104 एकीकृत हेल्पलाइन सेवा संचालित की जा रही...

पेशी के दौरान फरार कैदी को चंडीगढ़ से किया गिरफ्तार

अल्मोड़ा: दिनांक 15/09/2022 को कमल सिंह बिष्ट पुत्र भुवन सिंह निवासी ग्राम पदमपुरी पल्ली, पोखरी थाना दन्या तहसील भनोली, जनपद अल्मोड़ा पेशी के दौरान...